Skip to main content

क्या आप भी चाहते हैं कि आपका बच्चा गोरा पैदा हो / getting fair baby during pregnancy in hindi

Lalit Meghwal😊😊
 जैसा कि हम सभी जानते हैं की सभी माता-पिता की यही आशा होती है कि उनका बच्चा गोरा पैदा हो और गोरी त्वचा वाले को सभी पसंद करते है । टीवी फिल्मों में भी गोरी त्वचा वाले को पसंद करते है इसी कारण माता-पिता अपने बच्चे के लिए कई तरह तरह तरह की दवाइयों का उपयोग करते हैं
लेकिन मैं आपको बता बता देता हूं कि इसकी कोई दवाई नहीं है और आपको किसी से भी इससे संबंधित दवाई लेने से पहले डॉक्टर से जानकारी अवश्य लेनी चाहिए !

       तो आइए जानते हैं इसके बारे में.



  •  कैसे होगा बच्चा गोरा पैदा _^_ बच्चा गोरा पैदा हो इसके लिए सबसे अधिक जिम्मेदार है अनुवांशिक लक्षण या माता-पिता से मिले जीन जैसा कि आप सभी जानते हैं कि जिन्स व्यक्ति की त्वचा को 2 प्रकार के प्रभावित करता है यदि जींस की मदद से बनने वाला एंजाइम प्रभावित हो जाए तो मेलेनिन प्रोटीन का निर्माण नहीं हो पाता है जिससे कि रंगहीनता संबंधी रोग होता है जबकि आईवीएफ (IVF) में माता-पिता से मिलने वाले जींस में परिवर्तन आ जाता है इससे पता चलता है कि जन्म के समय माता-पिता से मिले जींस मेलेनिन को प्रभावित करता है!


  •   यह है उपाय 


  • कई गर्भवती महिलाएं देसी की इसलिए खाती है ताकि बच्चा गोरा पैदा हो और डॉक्टर्स भी घी खाने की सलाह देते हैं लेकिन वह इसलिए घी खाने को बोलते हैं ताकि वह अन्य खराब और वसा वाली खान पान की चीजों से दूर रहे । तो यदि आप इसलिए खाती है कि बच्चा गोरा पैदा होते तो यह एक भ्रम है यह बस एक मन को समझाने वाली बात है!

  •  केसर दूध  _^_   गर्भवती महिला केसर वाला दूध पीने की इच्छा रखती है और आस-पड़ोस की औरतें भी उन्हें कैसे बड़ा दूध पीने को बोलती है लेकिन गर्भवती महिला के लिए केसर वाला दूध हानिकारक होता है लेकिन यदि डॉक्टर से परामर्श लेकर पिए तो यह कर सकते हैं!

 नारियल/संतरा/अनानास _^_  जैसा कि महिलाएं इन चीजों को गर्भधारण के समय खाती है और यह मानती है कि यह खाने से बच्चा गोरा पैदा होता है और वैसे इनका लंबे समय से उपयोग किया जा रहा है लेकिन इनका कोई प्रमाण सिद्ध नहीं हुआ इसलिए यह मानना बहुत गलत है और यह सिर्फ एक मिथक है



  •  बादाम/ सौंफ /अंडा _^_ गर्भवती महिलाएं बादाम और अंडा खाती है लेकिन वह इस कारण खाती है कि उनका बच्चा गोरा पैदा हो जबकि अंडा और बदाम खाने से तो प्रोटीन विटामिन और कैल्शियम मिलता है जिससे की मां और बच्चे दोनों को पोषक तत्व मिलते रहे।  वह स्वस्थ रहे। परंतु इसका संबंध गोरे होने से नहीं है और सौंफ का प्रयोग भी करते हैं पर वह भी केवल जी मचलाना और मॉर्निंग सिकनेस जैसी समस्याओं में काम करती है इसलिए यह सिर्फ भ्रम है!

  •    और जानकारी के लिए कमेंट करें

Comments

Post a comment

For more information comment kro and follow kro. health1club.live

Dietplan , weight gain tips in hindi , pregnancy diethart

childs dietplan in hindi _ छोटे बच्चों का डाइट प्लान

Lalit Meghwal 😊 हम सभी जानते हैं कि माता-पिता अपने बच्चों की सेहत को लेकर बहुत चिंतित रहते हैं कि वह किस प्रकार अपने बच्चों को आहार खिलाए ताकि उसे सभी तरह के पोषक तत्व मिल सके । आप सभी जानते हैं कि बच्चों में संपूर्ण विकास 1 से 5 वर्ष तक हो जाता है और इस समय में उनको पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व देने की जरूरत होती है ताकि बाद में वह पूर्णता स्वस्थ हो  आज हम इसी बारे में बात करेंगे ।। शिशु के लिए हानिकारक फूड्स  >> जैसा कि आज के समय में बाजार में बिस्किट चॉकलेट और कई तरह की जंग फूड उपलब्ध हैं जिनमें कोई पोषक तत्व नहीं होता है बल्कि  यह बच्चों के लिए हानिकारक होते हैं लेकिन माता-पिता भी बिना रोक-टोक के उन्हें यह खिलाते हैं और उन्हें पता होते हुए भी मना नहीं कर पाते हैं ।   संतुलित आहार _>_ बच्चों में 1 से 5 वर्ष तक growth होती है और इस समय में उन्हें कैल्शियम, विटामिन , आयरन , प्रोटीन की आवश्यकता होती इसलिए उन्हें ज्यादा से ज्यादा यह आहार दें !  सुबह का नाश्ता इस प्रकार हो की उससे उर्जा मिले ।  दिन मैं तीन से चार बार पूरा आहार दे ।  आहार में हरी सब्जी , फल

pregnancy dietchart in hindi _ गर्भावस्था डाइट चार्ट

Lalit Meghwal Pregnancy diet chart in Hindi   गर्भावस्था के दौरान वह पहले से मां को पर्याप्त पोषण  मिलता रहना चाहिए जिससे कि बच्चे पर कोई दुष्प्रभाव ना पड़े और गर्भावस्था के समय मां और बच्चा दोनों स्वस्थ रहें ! पहले 3 महीने बहुत ही सावधानी रखने योग्य होते हैं क्योंकि भ्रूण का न्यूरोलॉजिकल विकास इन 3  महीनों में होने लगता है इस कारण गर्भवती महिला को पर्याप्त मात्रा में पोषण लेना चाहिए !  गर्भवती महिलाओं के लिए डाइट चार्ट बनाया गया है ! > requirements of nutrition during pregnancy  in hindi     गर्भावस्था के दौरान एक महिला को 2175  कैलोरी प्रति दिन की आवश्यकता होती है  ☆☆पोषक तत्व गर्भावस्था के दौरान☆☆    पोषक तत्व                आवश्यक मात्रा /day protin                              62-65grm  iron                             40 mili grm folic acid                  400 micro grm calcium                      1000 mili grm  iodine                     25-30 micro grm  पहले 3 महीने के लिए डाइट  प्लान =  गर्भवती महिला को पहले 3 महीनों में

Weight Gain Tips In Hindi

Lalit Meghwal  वजन बढ़ाए टिप्स इन हिंदी  Health1club.live  हेलो दोस्तों  यदि आप दुबले पतले हैं और आप चाहते हैं कि आपका शरीर भी सुडौल मजबूत हो तो आप सही जगह आए हैं  आप सभी जानते हैं कि पतला ज्यादा पतला होना भी स्वास्थ्य के लिए उतना ही हानिकारक है जितना कि अधिक मोटापा यह बहुत बड़ी चिंता का विषय है वजन कम होने के कारण आप मजाक के पात्र बनते हैं आप अपने आप को अकेला महसूस करते हैं  तो चलिए शुरू करते हैं सर्वप्रथम आपको अपनी दिनचर्या बॉलीवुड करनी होगी डाइट प्लान फॉर वेट गैन आप खाने में ऐसी चीजों का सेवन ज्यादा करें जिनसे कि आपको ज्यादा एनर्जी कैलोरी और सभी तरह के Nutrition भरपूर मात्रा में मिले इसमें आप फल फ्रूट ब्रेड गुड शहद Dairy products आदि ले सकते हैं दिन में दो से तीन बार फ्रूट जूस पिए !  आप यह सभी अपनी सहूलियत के अनुसार ले सकते हैं = सलाद , साबूदाने , पनीर , बादाम , किशमिश आदि !   protein food =  दाल छोले मछली अंडा आदि ले सकते हैं     फल एवं सब्जियां = आम शकरकंद केला आलू खजूर इन से वजन बढ़ेगा आप भोजन को दिन में दो से तीन बार टुकड़ों में खाएं ! ड्राई फ्रूट्स